टीचर्स डे के अवसर राष्‍ट्रपति ने शिक्षकों किया सम्मानित

Teachers Day,National Teachers Award,President Ramnath Kovind,Ramnath Kovind,Teachers,National Teacher Awards,National Teacher Award 2019,राष्ट्रपति रामनाथ कोविं,शिक्षक दिवस,राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार,Teachers Day

टीचर्स डे के मौके पर गुरुवार को कल राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने  नई दिल्‍ली में विज्ञान भवन में आयोजित एक समारोह में देश के शिक्षकों को  देश की शिक्षा प्रणाली में उनके अहम योगदान के लिए राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार प्रदान किये.

इस अवसर पर राष्‍ट्रपति ने  शिक्षकों से कहा कि चरित्र निर्माण की आधार शिला स्कूलों में रखी जाती है. शिक्षा का मुख्‍य उद्देश्य विद्यार्थी को अच्छा इंसान बनाना है. उन्‍होंने कहा कि शिक्षक यह कार्य विद्यार्थियों में ईमानदारी और अनुशासन के साथ करते हैं. इन मूल्यों वाला बेहतर इंसान प्रत्येक क्षेत्र में अच्छा साबित होगा. शिक्षक विद्यार्थियों को अच्छा इंसान बनाकर राष्ट्र निर्माण प्रक्रिया में योगदान करते हैं.

राष्‍ट्रपति ने कहा कि आज विश्‍व सूचना के इस युग में ज्ञान बढ़ रहा है, लेकिन केवल ज्ञान से ही मानव सभ्यता की सुरक्षा सुनिश्चित नहीं होगी. ज्ञान के साथ-साथ विवेक आवश्यक है. जब ज्ञान का विवेक के साथ मेल होगा तभी मानव समस्‍यायें सुलझाई जा सकती हैं. राष्‍ट्रपति ने कहा कि इस वैश्विक र्स्‍पधी विश्‍व में हमें आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस तथा मानव करुणा और डिजिटल विद्या और चरित्र निर्माण के बीच संतुलन बनाना होगा केवल ऐसे विवेक संगत ज्ञान के आधार पर ही हम जलवायु परिवर्तन, प्रदूषण और हिम नद के पिघलने जैसी वर्तमान चुनौतियों से निपट सकते हैं. उन्‍होंने कहा कि शिक्षक विद्यार्थियों को जल संरक्षण का महत्‍व बता कर जल संरक्षण के राष्‍ट्रीय अभियान में महत्वपूर्ण योगदान कर सकते हैं.

राष्‍ट्रपति ने शिक्षकों से ज्ञान और  विवेक से सम्‍पन्‍न नई पीढ़ी तैयार करने का आग्रह किया ताकि नई पीढ़ी सभी समकालीन चुनौतियों का सफल समाधान कर सके.

इस अवसर पर मानव संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ और  मानव संसाधन विकास राज्‍य मंत्री धोत्रे संजय शामराव भी उपस्थित थे.

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help