दिल्ली हौजकाजी मामलाः दुर्गा मंदिर में तोड़फोड़ हुई प्रतिमाओं की आज होगी प्राण प्रतिष्ठा

"Amulya Patnaik, Lal Kuan Bazaar, Old Delhi market review, Delhi Police, Delhi Police review, पुरानी दिल्ली, हौज़ काज़ी, लाल कुआं इलाका, दंगा फैलाने की साजिश, दुर्गा मंदिर, National Hindi News

धर्म के नाम पर दिल्ली के हौज काजी इलाके के दुर्गा मंदिर में 30 जून को हुई धार्मिक हिंसा के बाद मामला काफी गर्माया हुआ है. जिसके कारण आज भारी सुरक्षा के बीच खंडित हुई प्रतिमाओं की पुनर्स्थापना और प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी. प्रतिमाओं की प्राण प्रतिष्ठा से पहले एक भव्य शोभा यात्रा निकाली जाएगी.

बता दें कि 30 जून के बाद हौज काजी इलाके के मंदिर के आसपास अब माहौल शांत है लेकिन प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा के कार्यक्रम के दौरान सुरक्षा बेहद कड़ी है.

गौरतलब है कि 30 जून की रात कुछ अराजक तत्वों ने पार्किंग को लेकर हुए विवाद के बाद दुर्गा मंदिर के पुजारी के साथ मारपीट के साथ साथ प्रतिमाओं की तोड़फोड़ भी की थी. जिसके बाद इलाके में तनाव की स्थिति पैदा हो गई थी. हालांकि विवाद शांत होने के बाद ये तय किया गया था कि 9 जुलाई को मंदिर के मूर्तियों को दोबारा से प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी. इसमें अमन कमेटी ने मुसलमानों से निर्माण में भाग लेने की बात कही थी.

वहीं मुस्लिम वर्ग के एक व्यक्ति ने कहा, “हमने हमेशा संदेश दिया है कि हिंदू मुसलमान सब एक साथ रहें. आज एक नई सुबह है. आज जो शोभा यात्रा निकाली जा रही हैं हम उसका स्वागत करेंगे. हम संदेश देना चाह रहे हैं कि अगर कहीं ऐसी कोई घटना होती है तो उसे भुलाकर मिलजुल कर एक त्योहार की तरह मनाएं. हमारे लिए खुशी का दिन है कि जो कुछ हुआ उसे भुलाकर हम आज फिर एक साथ हैं.”

क्या है पूरा मामला?

30 जून को दिल्ली के हौजकाजी इलाके में दुर्गा मंदिर में असामाजिक तत्वों द्वारा पत्थरबाजी, तोड़फोड़ की गई. मंदिर के पास ही पार्किंग को लेकर संजीव गुप्ता और आस मोहम्मद में झगड़ा हुआ, आस मोहम्मद ने अपने साथियों के साथ संजीव के घर पर पथराव किया. बाद में मामला बढ़ गया और दुर्गा मंदिर पर भी भीड़ ने पथराव किया, जिसमें मंदिर की मूर्तियों को भी नुकसान पहुंचा.

सीसीटीवी की तस्वीरें सोशल मीडिया पर आने के बाद दिल्ली पुलिस पर कार्रवाई का दबाव बढ़ा. 2 जुलाई को इस मामले में पुलिस ने FIR दर्ज कर 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया, बाद में 4 और आरोपी गिरफ्तार किया गया. 5 जुलाई को मामले की जांच के लिए SIT गठित करने की मांग की याचिका को हाईकोर्ट ने खारिज किया. आज मंदिर में मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी, उसी के बाद मंदिर में विधिवत पूजा अर्चना शुरू होगी.

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help