बर्थडे स्पेशलः सत्यजीत रे फिल्मी दुनिया के दूसरे व्यक्ति

सत्यजीत रे, अकीरा कुरासोवा, पाथेर पांचाली, Satyajit Ray, Akira Kurosawa, Pather Panchali

सत्यजीत रे सिनेमा के लिए एक ऐसा नाम जिसने बाईस कोप की दुनिया को पीछे छोड़ देश को सिल्वर पर्दे का तोहफा दिया है. इसलिए आज भी यही कहा जाता है

अगर आपने सत्यजीत रे की फिल्में नहीं देखी हैं तो इसका मतलब आप दुनिया में बिना सूरज या चांद देखे रह रहे है.

सत्यजीत रे भारतीय सिनेमा का एक ऐसा सितारा जिसने भारतीय सिनेमाई इतिहास को आधुनिकतावाद की ओर लेकर गए. जिसके बाद उनकी फिल्में देख कर आज के फिल्म निर्देशक फिल्में बनाना सीखते हैं. इसी परिश्रम और फिल्में बनाने की चाह के चलते उनकी झोली में पद्मश्री से पद्म विभूषण तक और ऑस्कर अवॉर्ड से लेकर दादासाहेब फाल्के पुरस्कार हैं.

इसके अलावा 32 राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों से भी उन्हें नवाजा जा चुका है. सत्यजीत रे ने आर्ट सिनेमा को जिस अंदाज में उजागर किया कि देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया ने उनकी प्रतिभा का लोहा माना . पाथेर पांचाली’, ‘देवी’ ‘चारुलता’, ‘शतरंज के खिलाड़ी’ जैसी लोकप्रिय फिल्में देने वाले सत्यजीत रे अपने समय से बहुत आगे थे.

उनकी सोच और नजरिया एक आम इनसान से बहुत ही भिन्न था. देश को ये अमर फिल्में बनाने वाले सत्यजीत रे कभी किताबों के आवरण ‘कवर’ बनाया करते थे, यह बात कम ही लोग जानते होंगे. तब कौन जानता था कि किताबों के आवरण बनाने वाला लड़का अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाने वाला पहला भारतीय फिल्मकार बन जाएगा.

रे न केवल एक बेहतरीन लेखक बल्कि अलग दृष्टिकोण के फिल्मकार थे. उनकी पहली फिल्म पाथेर पांचाली ने अनेक अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार जीते जिसमें कान फिल्म फेस्टिवल का ‘श्रेष्ठ मानवीय दस्तावेज’ का सम्मान भी शामिल है.

चार्ली चैपलिन के बाद रे फिल्मी दुनिया के दूसरे व्यक्ति थे जिसे आक्सफोर्ड विश्वविद्यालय ने डॉक्टरेट की उपाधि से नवाजा था. उन्हें भारत रत्न दादा साहेब फालके मानद आस्कर एवं अन्य कई पुरस्कारों से देश-विदेश में सम्मानित किया गया था.

फिल्मी दुनिया के नए अंदाज में पेश करने वाले सत्यजीत रे 23 अप्रैल 1992 को इस दुनिया से विदा हुए. उस समय हजारों प्रशंसकों ने कलकत्ता स्थित उनके निवास के बाहर एकत्रित होकर उन्हें श्रद्धांजलि दी थी.

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help