कश्मीर भारत का आंतरिक मामला हैःरुस

article 370, india, russia, jammu and kashmir

अनुच्छेद 370 के जम्मू कश्मीर से हटाने के भारत के इस ऐतिहासिक कदम को जहां देश के  अलग अलग पार्टियों के नेताओं से  सरकार को कड़ी आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है, वही विदेशों में भारत के इस कदम को सराहनीय पहल बताया गया. साथ ही कोई भी  देश इसमें फंसने से साफ इनकार करते हुए इसे भारत का आतंरिक मामला बताया है, और कहा है कि भारत सरकार को अपनी जनता के लिए हर प्रकार से  के सुरक्षा कदम उठाने का अधिकार है .

इसी बात को सही ठहराते हुए भारत के करीबी दोस्त रशिया  के राजदूत निकोलाई कुदाशेव ने कहा है कि कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है. शिमला और लाहौर समझौते के तहत भारत-पाकिस्तान को इसका रास्ता निकालना चाहिए. इस मामले में रूस का रूख वही है जो भारत का है, 370 हटाने का फैसला संप्रभु फैसला है.

उल्लेखनीय है कि केन्द्र सरकार ने पांच अगस्त को जम्मू-कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान हटाने और जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को अलग-अलग केन्द्र शासित प्रदेश बनाने का फैसला किया था.

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help