बुराई पर अच्छाई की जीत का पर्व दशहरा

spiritual,religion,Navratri 2019, Navratri, durga puja 2019, goddess durga idol, Dusshera, Vijaydashmi, नवरात्रि 2019, दुर्गा पूजा 2019,Lifestyle and Relationship,Spirituality,Religion religion spiritual hindi newsspiritual,religion,Navratri 2019, Navratri, durga puja 2019, goddess durga idol, Dusshera, Vijaydashmi, नवरात्रि 2019, दुर्गा पूजा 2019,Lifestyle and Relationship,Spirituality,Religion religion spiritual hindi news

बुराई पर अच्छाई की जीत का पर्व दशहरा , जिसे भारत में पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है, इस दिन अयोध्या के राजा राम ने बुराई के प्रतीक रावण का वध करते हुए समाज को यह संदेश दिया था कि पराई नारी की तरफ यदि कोई भी पराया पुरुष बुरी आसक्ति रखता है तो उसका ही नहीं वरन उसके पूरे परिवार का अंत हो जाता है.

जैसा रावण के साथ हुआ भले ही रावण के नाम ज्ञान का समस्त भंडार मौजूद था पर कहते है ना जब  नाश मनुष्य पर छाता है ,पहले विवेक मर जाता है,  इस कहावत को दशानन ने भली भांति चरितार्थ किया था, क्योंकि रावण चारों वेदों का ज्ञाता होने के साथ साथ उच्च कोटि का ब्राह्मण भी था पर कहते है ना  जरूरी  नहीं जो ऊंचे कुल में जन्म लेता है उसकी करनी भी ऊंची हो, इसका उदाहरण रावण ने माता सीता का अपहरण कर दिया था, जिसके कारण  उसे भगवान राम के हाथों मृत्यु प्राप्त हुई  थी.

इसके अलावा दशहरे को विजयदशमी भी कहते है क्योंकि एक दूसरी कथा के अनुसार असुरों के राजा महिषासुर ने अपनी शक्ति के बल पर देवताओं को पराजित कर इन्द्रलोक सहित पृथ्वी पर अपना अधिकार कर लिया था. भगवान ब्रह्रा के दिए वरदान के कारण किसी भी कोई भी देवता उसका वध नहीं कर सकते थे. ऐसे में त्रिदेवों सहित सभी देवताओं ने अपनी शक्तियों से देवी दुर्गा की उत्पत्ति की. इसके बाद देवी ने महिषासुर के आतंक से सभी को मुक्त करवाया. मां की इस विजय को ही विजय दशमी के नाम से मनाया जाता है.

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help