2020 के विधानसभा चुनाव से पहले दिल्ली वालों को मिला तोहफा, बिजली दरें हुई सस्ती

दिल्ली विधानसभा चुनाव, दिल्ली में बिजली मुफ्त, अरविंद केजरीवाल, Free Electricity in Delhi, Delhi assembly election, Arvind Kejriwal government, 200 यूनिट बिजली फ्री, 200 unit electricity free, Power Road and water Delhi News, Power Road and water Delhi News in Hindi, Power Road and water Delhi Latest News, Power Road and water Delhi Headlines, बिजली-सड़क-पानी समाचार

2020 में होने वाले दिल्ली विधानसभा चुनावों को लेकर  बुधवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली की जनता को चुनाव से पहले ही बड़ा तौहफा दे दिया.  बढ़ती गर्मी से राहत देने के लिए ऐसी व कूलर की हवा के बिना इंसान का जीवन काफी मुश्किल है ऐसे में बढ़ती महंगाई के साथ साथ बिजली की बढ़ती खपत को लेकर भी मध्यम परिवार काफी परेशान रहता है, क्योंकि यदि वह पूरे दिन कूलर व ऐसी की हवा खाए तो बिजली की बढ़ती मां के साथ बिजली का बिल भरते भरते ही उसकी कमर ढह जाएंगी, ऐसे में वह गर्मी में अपने आप को परेशान ही करेगा.

इसी बात पर गौर करते हुए राजधानी के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्लीवासियों को प्रति महीने 200 यूनिट तक बिजली बिल्कुल फ्री कर दी.  दिल्ली सीएम के इस फैसले के बाद अगर आप महीने में 200 यूनिट बिजली की खपत करते हैं तो आपको बिल नहीं भरना होगा.  सीएम के इस यह फैसले को तत्काल रुप से प्रभावी कर दिया गया है.

केजरीवाल ने बताया कि अगर कोई 200 यूनिट तक बिजली इस्तेमाल करता है तो उसे बिजली बिल देने की जरूरत नहीं है. वहीं 201 यूनिट होने पर बिल देना होगा. 201 से 400 यूनिट तक आधी सब्सिडी मिलेगी.

201 से 400 के बीच खपत पर कितना चार्ज

सरकार के फैसले के बाद कई लोगों के मन में यह सवाल उठ रहा है कि अगर 200 से एक यूनिट भी ज्यादा खपत हुई तो क्या होगा. ऐसे में मान लीजिए 300 यूनिट की खपत हो गई तो क्या होगा. इस स्थिति में 200 से बाद यानी 100 यूनिट पर आधा बिल लगेगा या फिर पूरी 300 यूनिट पर आधा होगा.

ऐसे में आपको बता दें कि दिल्ली सरकार ने यहां पहले से लागू नीति पर ही अमल किया है. 2015 में यह नियम बना था कि 200 से ऊपर होने पर पूरे बिल का आधा आपको देना होगा. उदाहरण के तौर पर 300 यूनिट होने पर आपको 150 के पैसे देने होंगे.

पहले घटाए फिक्सड चार्ज

दिल्ली सरकार ने मंगलवार को ही फिक्सड चार्ज भी घटाए थे. जिन लोगों का सैंक्शन लोड 2 किलोवाट तक है, उन्हें हर महीने पहले 125 रुपये/किलोवाट के हिसाब से फिक्स्ड चार्ज देना पड़ता था, 1 अगस्त से अब उन्हें 20 रुपये/ किलोवाट के हिसाब से फिक्स्ड चार्ज देना होगा. इस तरह से दो किलोवाट लोड पर सभी चार्ज को मिलाकर 244 रुपये तक की बचत होगी. 3 किलोवाट तक लोड होने पर 313 रुपये तक हर महीने बचत होगी.

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help