कट्टरपंथ और आतंकवाद वैश्विक शांति एवं सुरक्षा के लिए सबसे बड़ा खतराः पीएम मोदी

Breaking News,India,Seoul Peace Prize for 2018,Seoul Peace Prize,Narendra Modi,Modinomics,Angela Merkel

दो दिवसीय यात्रा पर दक्षिण कोरिया में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि अब समय आ गया है कि वैश्विक समुदाय आतंकवादी नेटवर्कों और उन्हें वित्तीय मदद मुहैया कराने वाले माध्यमों का पूरी तरह खात्मा करने के लिए ‘‘एकजुट होकर कदम’’ उठाए.

मोदी ने कहा कि भारत 40 वर्ष से ज्यादा समय से सीमा पार से आतंकवाद का दर्द झेल रहा है और शांति की भारत की पहल को इस खतरे ने अक्सर पटरी से उतार दिया. दो दिवसीय यात्रा पर दक्षिण कोरिया आए मोदी ने कट्टरपंथ और आतंकवाद को वैश्विक शांति एवं सुरक्षा के लिए सबसे बड़ा खतरा बताया.

मोदी ने 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के हमले के बाद दक्षिण कोरिया द्वारा भारत के समर्थन के लिए आभार व्यक्त किया.
Breaking News,India,Seoul Peace Prize for 2018,Seoul Peace Prize,Narendra Modi,Modinomics,Angela Merkel

प्रधानमंत्री मोदी ने दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेइ इन के साथ बातचीत के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि अब समय आ गया है कि दुनिया बातें करना छोड़कर आतंकवाद के खिलाफ ‘‘एकजुट होकर कार्रवाई’’ करे.

बाद में, उन्होंने प्रतिष्ठित सियोल शांति पुरस्कार ग्रहण करने के बाद यहां एक समारोह में कहा कि दक्षिण कोरिया की तरह ही भारत भी सीमा पार आतंकवाद से पीड़ित है.

मोदी ने स्पष्ट रूप से पाकिस्तान का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘शांतिपूर्ण विकास की हमारी कोशिशें अक्सर सीमापार आतंकवाद की वजह से बाधित होती रही हैं.’’

पाकिस्तान पर कई आतंकवादी समूहों को पनाहगाह मुहैया कराने का आरोप है.

 

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help