नीरव मोदी की हिरासत अवधि बढ़ाने के लिए लंदन की कोर्ट में होगी सुनवाई

Bank fraud, Britain, Indian Government, Nirav modi

देश के पंजाब नेश्नल बैंक से करीब 11000 करोड़ रुपए के धोखेबाजी कर लंदन भाग चुके भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी की हिरासत अवधि को 28 दिन बढ़ाने के लिए उसे गुरुवार को वीडियो लिंक के जरिए  लंदन की एक स्थानीय कोर्ट में पेश किया जाएगा. नीरव मोदी पर करीब दो अरब डॉलर की बैंक से धोखाधड़ी के मामले में भारत में आरोपित है. उसे मार्च में  लंदन में गिरफ्तार किया गया था और वह तब से वह स्थानीय वैंड्सवर्थ कारावास में ही है.

ब्रिटेन के कानून के आधार पर उसे हर चार सप्ताह के बाद हिरासत की अवधि को बढ़ाने के लिए कोर्ट में पेश किया जाता है. इस सुनवाई में नीरव मोदी को प्रत्यर्पित करने की भारत सरकार की याचिका के बारे में भी फैसला दिया जा सकता है. इससे पहले पिछली पेशी में मुख्य न्यायाधीश एम्मा अर्बथनॉट ने संकेत दिया था कि दोनों पक्ष प्रत्यर्पण के लिए प्रस्तावित पांच दिन की सुनवाई पर जल्दी ही सहमत हो सकते हैं. यह सुनवाई भी वीडियो लिंक के जरिए ही हुई थी.

उन्होंने संक्षिप्त सुनवाई के दौरान इस मामले से संबंधित सारे दस्तावेज आठ अप्रैल तक कोर्ट को सौंप दिए जाने का अनुमान व्यक्त किया था. पांच दिन की प्रस्तावित प्रत्यर्पण सुनवाई अगले साल मई में होने का अनुमान है. कोर्ट इससे पहले कई बार नीरव मोदी की जमानत याचिका खारिज कर चुकी है. पिछले महीने ब्रिटेन के हाई कोर्ट ने भी नीरव मोदी की जमानत याचिका खारिज कर दी थी। यह उसकी चौथी जमानत याचिका थी.

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help