अमेरिका-इरान मामलाः इरान पर साइबर अटैक की तैयारी में

"world,middle east,Iran, America, Iran President Rouhani, US President Donald Trump, Drone, UAE, America Iran Tension, America-Iran conflict, military strike on Iran, Americas plan to military strike on Iran, Trump decision to pull up, military strike on Iran by America, united states of america, HPJagranSpecial,News,International News,Middle East middle-east world hindi news

अमेरिका ने सामने से इरान को नियंत्रण लाने में असफल  रहने के कारण अमेरिकी सरकार ने ईरान में अपने निगरानी ड्रोन गिरा दिए है, जिसके बाद  उसने इरान पर साइबर अटैक कर ईरान की मिसाइल नियंत्रण प्रणाली और एक जासूसी नेटवर्क पर साइबर हमले किये हैं.  इस बात की जानकारी अमेरिकी समाचार पत्र वाशिंगटन पोस्ट ने  दी है.

समाचार पत्र ने लिखा है कि हमले से रॉकेट और मिसाइल प्रक्षेपण में इस्तेमाल होने वाले कंप्यूटरों को नुकसान पहुंचा है. हालांकि अमेरिका के रक्षा अधिकारियों ने समाचार पत्र की रिपोर्ट की पुष्टि नहीं की है.

याहू ने दो पूर्व खुफिया अधिकारियों के हवाले से कहा है कि अमेरिका ने सामरिक हॉर्मूज समुद्र संधि में जहाजों पर नज़र रखने वाले एक जासूसी समूह को निशाना बनाया. अमेरिका का आरोप है कि ईरान ने इसी जगह हाल में ही में दो बार उसके तेल टैंकों पर हमले किये थे.

ईरान के परमाणु सौदे से अमेरिका के बाहर निकलने के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव का माहौल बढ़ा हुआ है. ईरान ने गुरुवार  को अमेरिका के एक ड्रोन को मार गिराया था. ईरान का दावा है कि ड्रोन ने उसके हवाई क्षेत्र का उल्लंघन किया था.

ड्रोन हमले के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने ईरान पर हमला करने के बात कही थी. बाद में उन्होंने हमले का विचार त्याग कर शनिवार को कहा कि अमेरिका अगले सप्ताह ईरान पर बड़े प्रतिबंध लगाएगा.

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help