कारगिल में ऑपरेशन सफेद सागर के दौरान शहीद हुए शहीदों के “मिसिंग मैन’ के जरिए दी श्रद्धांजलि

25 मई, 1999 कारगिल की ऊंची पहाडि़यों पर पाकिस्‍तानी सेना ने कब्जा कर देश के बहादुर जवानों को उनके आत्मबलिदान के लिए आज उन्हें सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बी. एस. धनोआ ने प्राणों की आहूति देने वाले जवानों श्रद्धांजलि दी.

"Kargil war, Air Chief Marshal, BS Dhanoa, tribute, Sqn Ldr Ajay Ahuja, , National Hindi News"> <meta name="news_keywords" content="Kargil war, Air Chief Marshal, BS Dhanoa, tribute, Sqn Ldr Ajay Ahuja, , National Hindi News

बता दें कि कारगिल में ऑपरेशन सफेद सागर के दौरान अपने प्राणों की आहूति देने वाले जवानों के साहस के सम्मान में आज चार लड़ाकू विमानों, मिग-21 की ‘मिसिंग मैन’ फॉर्मेशन फ्लाईपास्‍ट की अगुवाई की. बता दें कि 1999 की कारगिल वार में पश्चिमी वायु कमान के कमांडिंग इन चीफ के तौर पर एयर मार्शल आर. नाम्‍बियार भी इस फॉर्मेशन का हिस्सा थे.

"Kargil war, Air Chief Marshal, BS Dhanoa, tribute, Sqn Ldr Ajay Ahuja, , National Hindi News"> <meta name="news_keywords" content="Kargil war, Air Chief Marshal, BS Dhanoa, tribute, Sqn Ldr Ajay Ahuja, , National Hindi News

क्या है मिसिंग मैन सैल्यूट

‘मिसिंग मैन’ फॉर्मेशन शहीद साथियों के सम्‍मान में की जाने वाली एक प्रकार की हवाई सेल्‍यूट है. जो आमतौर पर  एक एरो फॉर्मेशन है. इसमें दो लड़ाकू विमानों के बीच में फासला होता है, जो मिसिंग मैन या लापता शख्‍स को  प्रदर्शित करता है. और उन्हे प्रदर्शित करते हुए वह एक सादगीपूर्ण समारोह में  उनके जरिए पूरे किए गए  कर्तव्‍य के लिए अपने प्राणों की आहूति देने वाले भारतीय वायु सेना के जवानों के सम्‍मान में युद्ध स्‍मारक पर पुष्‍पांजलि अर्पित करते है, जो हर साल किया जाता है, इस साल भी इसे उसी तरह दर्शाया गया है .

"Kargil war, Air Chief Marshal, BS Dhanoa, tribute, Sqn Ldr Ajay Ahuja, , National Hindi News"> <meta name="news_keywords" content="Kargil war, Air Chief Marshal, BS Dhanoa, tribute, Sqn Ldr Ajay Ahuja, , National Hindi News

आज ही के दिन 1999 में स्क्वाड्रन लीडर अजय आहूजा वीआरसी (मरणोपरांत) आहूजा ने कारगिल संघर्ष के दौरान अपने प्राण न्‍यौछावर किये थे. उस समय वह  17 स्क्वाड्रन के फ्लाईट कमांडर थे.  गौरतलब है कि  28 मई को वायुसेना प्रमुख सरसावा वायुसेना स्टेशन का दौरा करने के बाद कारगिल शहीदों के सम्‍मान में एमआई-17 वी5 मिसिंग मैन फॉर्मेशन में उड़ान भरी.  28 मई, 1999 को हमने एमआई-17 हैलिकॉप्‍टर द्रास सैक्‍टर में शत्रु पर सफल आक्रमण करने के बाद गंवा दिया था. स्क्वाड्रन लीडर आर. पुंडीर, फ्लाइट लैफ्टिनेंट एस. मुहिलान, सार्जेंट आर.के. साहू और सार्जेंट पीवीएनआर प्रसाद उस एमआई-17 हैलिकॉप्‍टर की कार्रवाई में शहीद हो गये थे.

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help