पूरे दिन चले हाई प्रोफाइल ड्रामे के बाद गिरफ्तार हुए पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम

बुधवार को हुए हाईप्रोफाइल ड्रामे के बाद आईएनएक्स मीडिया धन शोधन मामले में फंसे पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की गिरफ्तारी कल उनके आवास जोर बाग से सीबीआई के आला अफसरों के जरिए संभव हो सकी. चिदंबरम को उनके आवास से गिरफ्तार करने के बाद से उन्हें सीबीआई मुख्यालय ले जाया गया, जिसकी दूरी उनके घर से महज 10 किमी की है. फिर भी उन्हें कड़ी सुरक्षा  के बीच सीबीआई के डायरेक्टर व ज्‍वाइंट डायरेक्टर की उपस्थिति में मुख्यालय लाया गया.

बता दें कि पूरे दिन चले इस हाईप्रोफाइल ड्रामे के बीच सीबीआई टीम को पी चिंदबरम को गिरफ्तार करने के लिए काफी मशक्कत  करनी पड़ी. पूरे दिन तलाशी अभियान के बाद रात में अधिकारियों को उनके घर में प्रवेश के लिये दीवार फांदकर अंदर जाना पड़ा.

इससे पहले चिदंबरम कांग्रेस मुख्यालय में मीडिया को संबोधित करने के बाद अपने आवास पर पहुंचे थे. सीबीआई की करीब 30 अधिकारियों की टीम दिल्ली पुलिस के अधिकारियों के साथ जोर बाग स्थित चिदंबरम के आवास पर पहुंची. कुछ देर मुख्य दरवाजा खटखटाने के बाद अधिकारियों ने परिसर की दीवार फांदकर घर में प्रवेश किया. बाद में प्रवर्तन निदेशालय की एक टीम भी वहां पहुंची. जिसके बाद उनकी गिरफ्तारी संभव हो सकी.

इससे पहले मंगलवार की शाम के बाद से ‘गायब’ रहे चिदंबरम बुधवार की शाम अचानक कांग्रेस मुख्यालय पहुंचे, जहां उन्होंने 8:15 बजे मीडिया को संबोधित किया. उन्होंने दावा किया कि वह कानून से ‘‘भाग’’ नहीं रहे हैं एवं उनके खिलाफ लगाए गए आरोप ‘‘झूठे’’ हैं. इस दौरान उनके साथ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, कपिल सिब्बल, सलमान खुर्शीद और अभिषेक मनु सिंघवी भी मौजूद थे.

एजेंसियों के जरिए पूर्व वित्त मंत्री के घर पर पहुंचने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए पिता की गिरफ्तारी पर कार्ति ने ट्वीट कर कहा, ‘‘एजेंसियों के जरिए किया जा रहा ड्रामा और तमाशा महज सनसनी फैलाने और कुछ तमाशाबीनों के फायदे के लिए है.’’

 

 

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help