हम राम मंदिर की भीख नहीं मांग रहे, ये हमारा अधिकार हैः भय्याजी जोशी

Bhaiyyaji Joshi, Ram Temple demand, ram mandir, sadhvi ritabmra, vishwa hindu parishad, ramlila maidan, BJP,Virat dharm sabha,wintersession , parliament, साध्वी ऋताबंरा ,में विराट धर्म सभा ,रामलीला मैदान ,शीतकालीन सत्र , National News , noida news ,Avm news , hindi samachaar

ये बाबर की भूमि नहीं है, ये राम की भूमि है यह कहना है साध्वी ऋताबंरा का. रविवार को अयोध्या के राम मंदिर निर्माण के लिए विश्व हिंदू परिष्द ने दिल्ली के रामलीला मैदान में विराट धर्म सभा का आयोजन किया. इस धर्म सभा में शामिल सभी संत महातमाओं ने केंद्र सरकार से कानून बनाने की पुरजोर मांग की गई है.

धर्म सभा में अपने शक्ति के प्रदर्शन में स्वयंसेवक संघ के नेता सुरेश भैयाजी जोशी ने चुनावी वादा ना पूरा करने को लेकर भाजपा पर सीधे हमला बोलते हुए कहा कि सरकार ने अपना वादा पूरा नहीं किया है.

यहां खचाखच भरे रामलीला मैदान में भगवा टोपियां लगाये हजारों लोग ‘रामराज्य फिर लायेंगे, मंदिर वहीं बनायेंगे’ जैसे नारे लगा रहे थे. विहिप की यह रैली इस मायने से अहम है कि यह मंगलवार से शुरु हो रहे संसद के शीतकालीन सत्र से पहले हुआ है. कई हिंदू संतों, वरिष्ठ आरएसएस और विहिप नेताओं ने इस रैली को संबोधित किया और कहा कि उच्चतम न्यायालय को लोगों की भावनाओं को ध्यान में रखना चाहिए.

गौरतलब है कि रामलीला मैदान में इस धर्म सभा को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे और ऊंची जगहों पर स्नाइपर (अचूक निशानेबाज) तैनात किए गए थे.
विहिप ने रैली के लिए घर-घर जाकर प्रचार अभियान चलाया था.विहिप प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा, ‘‘ यह विशाल सभा है जो उन लोगों का हृदय परिवर्तन करेगी जो राम मंदिर के निर्माण के लिए विधेयक लाने के पक्ष में नहीं हैं.’

विहिप ने मंदिर के अपने अभियान के पिछले चरणों में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और राज्य के राज्यपालों से मुलाकात की थी। आने वाले चरण में वे मंदिरों और मठों में धार्मिक अनुष्ठान और प्रार्थना आयोजित करेंगे.

इस अभियान का समापन प्रयाग में साधु-संतों की ‘धर्म संसद’ के साथ होगा। अंतिम ‘धर्म संसद’ 31 जनवरी और एक फरवरी को आयोजित होगी.

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help