पुरुष से ज्यादा महिला करती जेबतराशीः सर्वे

हालिया रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि राजधानी में जेबतराशों में महिला जेबताराशों की संख्या ज्यादा .क्योंकि महिला होने के कारण यह आसानी से पकड़ ने नहीं आ पाती और अपनी मासूमियत सी शक्ल बनाकर यह अमूमन वारदातों को अंजाम देने के बाद आसानी से पुलिस को चकमा दे देती है.

इस रिपोर्ट में शुलासा हुआ है कि राजघानी में दिल्ली मेट्रो में यात्रियों को सबसे अधिक निशाना महिला जेबतराश ही बना रही हैं. वर्ष 2018 में मेट्रो स्टेशन परिसर में सीआईएसएफ के जरिए दबोचे गए कुल 498 जेबकतरों में से 470 महिलाएं थीं. पकड़ी गईं जेबतराशों की संख्या तकरीबन 94 प्रतिशत है. वहीं, 2019 में दिल्ली मेट्रो में कुल 15 जेबकतरे पकड़े गए, सभी महिलाएं हैं.
रोज 30 लाख सफर करते हैं

वर्ष 2018 में सीआईएसएफ ने मेट्रो में जेबकतरों के खिलाफ 111 जांच अभियान चलाए. सीआईएसएफ ने मार्च 2007 में दिल्ली मेट्रो की सुरक्षा का जिम्मा संभाला था. वर्तमान में सीआईएसएफ तकरीबन 239 मेट्रो स्टेशनों पर अपनी सुरक्षा दे रही है। मेट्रो में रोजाना करीब 30 लाख यात्री सफर करते हैं.

इन स्टेशनों पर नजर
कश्मीरी गेट, चांदनी चौक, नई दिल्ली, राजीव चौक, हुड्डा सिटी सेंटर, शाहदरा, कीर्ति नगर, तुगलकाबाद, समयपुर बादली, यमुना बैंक और वैशाली आदि स्टेशनों पर महिला जेबतराशों की अधिक सक्रियता होने के चलते यहां अधिक नजर रखी जाती है.

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help