चुनावी बिगुल बजने के साथ अखिलेश यादव का भाजपा पर ‘विकास’ तंज

अखिलेश यादव, बीजेपी, ट्विटर, समाजवादी पार्टी, गठबंधन, उत्तर प्रदेश, लोकसभा चुनाव 2019,Akhilesh Yadav, BJP, Twitter, Samajwadi Party, Alliance, Uttar Pradesh, Lok Sabha Elections 2019

चुनावी बिगुल बजने के बाद से सभी पार्टीयों ने चुनाव प्रचार- प्रसार के लिए अपनी अपनी कमर कस ली है , इसी कड़ी में समाजवादी पार्टी (SP) प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) भी अपनी पार्टी को बहुमत भरी जीत दिलाने के लिए चुनावी समर में कूद पड़े है ,जिसमें उन्होंने  सोमवार को भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर तंज कसते हुए एक के बाद एक ट्वीट किए है. मंगलवार के ट्वीट में उन्होंने भाजपा के चुनावी मुद्दे, प्रचारक, चुनावी रणनीति और उपलब्धियों पर बात की है.

अखिलेश यादव, बीजेपी, ट्विटर, समाजवादी पार्टी, गठबंधन, उत्तर प्रदेश, लोकसभा चुनाव 2019,Akhilesh Yadav, BJP, Twitter, Samajwadi Party, Alliance, Uttar Pradesh, Lok Sabha Elections 2019

अखिलेश ने ट्वीट किया, ‘-भाजपा के चुनावी मुद्दे: 1) विपक्ष 2) विपक्ष 3) चौकीदार। -भाजपा के प्रचारक: 1) राज्यपाल 2) सरकारी एजेंसियां 3) मीडिया। -भाजपा की चुनावी रणनीति: 1) सोशल मीडिया 2) नफरत 3) पैसा। -भाजपा के 5 साल की उपलब्धि: 1) भीड़तंत्र 2) किसानों का अपमान 3) बेरोजगारी.’

इससे पहले सोमवार को उन्होंने ट्वीट किया था, ‘विकास पूछ रहा है… भाजपा अपनी रैलियों में केवल विपक्ष की ही बातें क्यों कर रही है? क्या भाजपा के 5 साल के शासनकाल में उनकी अपनी कोई भी सकारात्मक उपलब्धि नहीं है? जनता के आक्रोश और हार के डर से भाजपा के नेता और कार्यकर्ता गर्मी का बहाना करके चुनाव प्रचार से बच रहे हैं.’

सपा प्रमुख ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि उत्तर प्रदेश के शिक्षामित्रों, बीपीएड एवं टीईटी डिग्रीधारकों, शिक्षा प्रेरकों, ग्राम रोजगार सेवकों, आंगनबाड़ी सहायिकाओं, आशा बहुओं, रसोइयों और अनुदेशकों को स्थायी रोजगार चाहिये, ना कि चौकीदार.

इस चुनावी रणभेरी के बिगुल बजने के साथ ही सभी महारथी अपने अपने चुनावी रथ पर सवार देश के सबसे बड़े चुनावी समर में एक दूसरे की काट करने के लिए कूद पड़े है . जिसकी तैयारी  सोशल मिडिया पर नामचीन हस्तियों के बीच एक दूसरे पर व्यंग्यात्मक कटाक्ष करते हुए भली भांति पढ़ा  सकता है, जिसके बाद  अब देखना है कि देश के इस चुनाव में किस का भगवा लहराएगा या फिर हाथी साईकिल की सवारी करके खुश रहेगा, या हाथ को 2009 वाली अपनी सफाई एक बार दिखाने का मौका मिलेगा.

 

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help