भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफआई) के स्वर्ण जयंती संस्करण में लगभग 250 फिल्में प्रदर्शित होंगी

2019 में आयोजित होने वाले 50वें भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफआई) में 76 देशों की 200 सर्वश्रेष्ठ फिल्मों, 26 फीचर फिल्मों और 15 गैर-फीचर फिल्मों का भारतीय पैनोरमा सेक्शन के तहत प्रदर्शन होगा। इस स्वर्ण जयंती संस्करण में लगभग 10,000 लोगों और फिल्म प्रेमियों के हिस्सा लेने की उम्मीद है. केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने आज नई दिल्ली में इसकी घोषणा की.

केंद्रीय मंत्री ने यह भी कहा कि आईएफएफआई अपना स्वर्ण जयंती संस्करण मना रहा है. इसमें विभिन्न भाषाओं की ऐसी 12 प्रमुख फिल्मों को भी 20 से 28 नवंबर तक प्रदर्शित किया जाएगा,  जिन्होंने 2019 में 50 साल पूरे किए हैं.

प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, ‘दादा साहब फाल्के पुरस्कार विजेता श्री अमिताभ बच्चन के सिनेमा में उत्कृष्ट योगदान को सम्मान दिया जाएगा और 50वें संस्करण में उनकी प्रभावशाली तथा मनोरंजक फिल्मों के एक पैकेज के माध्यम से इसका जश्न मनाया जाएगा.’

भारतीय पैनोरमा आईएफएफआई का एक प्रमुख हिस्सा है, जो सर्वश्रेष्ठ समकालीन भारतीय फीचर और गैर-फीचर फिल्मों का प्रदर्शन करता है। इस वर्ष फीचर फिल्म ज्यूरी की अध्यक्षता प्रख्यात फिल्म निर्माता एवं पटकथा लेखक श्री प्रियदर्शन ने की. ज्यूरी ने अभिषेक शाह द्वारा निर्देशित गुजराती फिल्म ‘हेलारो’ को भारतीय पैनोरमा 2019 की उद्घाटन फीचर फिल्म के लिए चुना है.

गैर-फीचर फिल्म ज्यूरी की अध्यक्षता जाने-माने डॉक्यूमेंट्री फिल्म निर्माता श्री राजेंद्र जांगले ने की. ज्यूरी ने आशीष पांडे द्वारा निर्देशित फिल्म ‘नूरेह’ को भारतीय पैनोरमा 2019 की उद्घाटन गैर-फीचर फिल्म के रूप में चुना है.

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help