आईएएएक्स केसः पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम की बढ़ी मुश्किलें

2007 में सामने आए आईएएएक्स केस में कांग्रेस नेता पी चिंदबरम की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही है.  इस केस में लिप्त  भ्रष्टाचार और धन शोधन आरोपों में नाम आने पर उन्होंने  उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाया ताकि उन्हें कुछ राहत मिल सके. पर पी. चिदंबरम  को  लेकर इस मामलें में हो रही सुनवाई  में उन्हें निराशा  हाथ लगी है.

मंगलवार को  इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम को  तलब करते हुए उन्हें गिरफ्तारी से अंतरिम राहत देने से साफ इनकार कर दिया.

मामले की जांच कर रहें जज सुनील गौड़ ने चिदंबरम को राहत देने से इनकार कर दिया. इससे पहले उच्च न्यायालय ने चिदंबरम की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी.

क्या था मामला

सीबीआई ने 15 मई 2017 को एक प्राथमिकी दर्ज करते हुए आरोप लगाया था कि वित्त मंत्री के रूप में चिदंबरम के कार्यकाल के दौरान 2007 में 305 करोड़ रुपये का विदेशी धन प्राप्त करने के लिए एक मीडिया समूह को दी गयी एफआईपीबी मंजूरी में अनियमितताएं हुई थीं. इसके बाद ईडी ने 2018 में इस संबंध में धन शोधन का मामला दर्ज किया था.

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help