आईएलएंडएफएस घोटाले में शिवसेना प्रमुख राज ठाकरे हुए तलब

Ilandfs scam, एसएफआईओ, sfio, आईएलएंडएफएस, आईएफआईएन, all about il and fs crisis, il&fs crisis, il&fs, il&fs crisis explained, ilandfs share price, il&fs case, il&fs scam, il and fs company shares, ilandfs transportation share price, ilandfs dividend, il&fs news, ilandfs engg, scam in india, scam in india in hindi, indian scam, pnb scams

देश में नई सरकार भले ही आ गई पर हर सरकार की तरह वर्तमान सरकार के सामने भी भष्ट्राचार से लड़ना एक सबसे बड़ी समस्या  है, पर फिर भी इस सरकार ने भष्ट्राचार के आगे अपने घुटने नहीं टेके है, जिसके चलते कल पी चिंदबरम को CBI  ने  अरेस्ट  किया गया, वही आज इसकी तलवार महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे पर लटक रहीं है.

2018 में इंफ्रास्ट्रक्चर एंड लीजिंग फाइनेंशियल सर्विसेज यानी आईएलएंडएफएस का मामला सामने आया, जिसमें नोमुरा इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार आईएलएंडएफएस समूह पर कुल 91000 करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज है. आईएलएंडएफएस को छोटी अवधि का करीब 13,559 करोड़ रुपये और लंबी अवधि का 65,293 करोड़ रुपये चुकाना है. इसमें से 60 हजार करोड़ रुपये के आसपास का कर्ज सड़क, बिजली और पानी की परियोजनाओं से जुड़ा है.

आईएलएंडएफएस में घोटाले की जानकारी साल 2018 में सामने आई जब आईएलएंडएफएस और उसकी सहायक कंपनियों ने नकदी संकट की वजह से कर्ज के भुगतान में देरी की. मार्च 2018 तक 2018 तक आईएलएंडएफएस और उसकी सहायक कंपनियों पर बैंकों और अन्य ऋणदाताओं का 90,000 करोड़ रुपये से अधिक का बकाया था.

आईएलएंडएफएस ने कोहिनूर सीटीएनएल को लोन दिया था और इक्विटी इन्वेस्टमेंट भी किया था. सीटीएनएल ने लोन पेमेंट में डिफॉल्ट कर दिया. सीटीएनएल में राज ठाकरे भी पार्टनर थे. हालांकि, बाद में वो अपना शेयर बेचकर कंपनी से बाहर हो गए थे. सुत्रों के मुताबिक , राज ठाकरे ने उसी साल अपने शेयरों को बेचा जब आईएलएंडएफएस ने घाटे में सीटीएनएल के शेयर बेचे थे.

इसी को आधार बनाकर आज Cbi   ने शिवसेना प्रमुख राज ठाकरे को इसी केस के बाबत प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) के सामने पेश हुए हैं.

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help